संतोष ही सुख है

जिंदगी में बहुत कुछ मिलता है,
मगर कीसी को भी, सब कुछ नहीं मिलता ।
कुछ न कुछ कमी तो जिंदगी में रहेती है ।
हर कीसी को मुकम्मल जहँ नहीं मिलता ।
कमीओं पे ध्यान न दे,
जो है उसी में खुस रहें और
ईश्वर का धन्यवाद करे।

कमीओं को दूर करने की कोशीश से
कामीयाबी मिल शकती है,
मगर न मिलने से दुखी न होना,
जो है वोही परियाप्त है,
वोही समझ कर संतोष मानो,
तो जिंदगी सुख-शांति से भर जाएगी ।
विनोद आनंद

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s