ज़िंदगी है

हसना, हसाना ज़िंदगी है
रोना, रुलाना नहीं ।

जीना, जीने देना  ज़िंदगी  है
न जीना, न जीने देना नहीं ।

न फसना, न फसाना ज़िंदगी है
फसना, फसाना नहीं ।

प्रेम करना, दया करना जिंदगी है
नफ़रत, धृणा करना नहीं ।

खुस रहेना,  खुस रखना ज़िंदगी है
दु:खी रहेना, दु:खी करना नहीं ।

खुद को, दुसरों को पहेचानना ज़िंदगी है
खुद को, दूसरों को न पहेचानना नहीं ।

खुद को, दुसरों को समझ़ना ज़िंदगी है
खुद को, दूसरों को न समझ़ना नहीं ।

समस्या, मुश्किलो को सुलजाना जिंदगी है
समस्या, मुश्किलो को उलझाना नहीं ।

खुदको, दूसरों को सुधारना जिंदगी है
खुदको, दूसरों को न बिगाडना नहीं ।

मान जाना, मना ना ज़िदगी है
रुठ ना,  रुठे रहे ना नहीं ।

क्षमा करना, क्षमा माग ना ज़िंदगी है
अकडना, अहम  करना नहीं ।

संभलना, संभालना जिंदगी है,
गीरना, गीराना नहीं ।

जिंदगी को सरल, आसान बनाना जिंदगी है
जिंदगी को कठीन,बोज़ बनाना नहीं ।

विनोद आनंद                                25/11/15

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s