कौन अमीर ? कौन गरीब ?

न कोई अमीर न कोई गरीब
क्यूं कि तुम्हारे पीछे लाखों है,
और आगे भी लाखों है ।
क्या धन ही अमीर और
गरीब का मान दंड है ।
धन तो आज है तो कल नही है।
जो भी स्थिति है उस में खुस
और संतोष है वो ही अमीर है,
वो कभी भी गरीब नही है ।

ईन्सान धन दौलत से अमीर नही,
सदा गुणो से और संस्कारों से,
सद् विचारों से और सत्कर्मो
से अमीर कहेलाता है ।
वो कभी गरीब नही होता ।

जिस को ईश्र्वर में श्रध्धा,विश्वास
ईश्वर की कृपा और वडीलों का
आशीर्वाद है वो अमीर है ।

जो मन से अमीर है, वो अमीर है,
वो कभी भी गरीब नही है ।

विनोद आनंद                               30/04/2016
फ्रेन्ड, फिलोसोफर, गाईड

मर्द कौन ?

मर्द मजबूत काया और निरोगी हो,
मक्कम और शूरवीर हो, वो मर्द है ।
मर्द मुश्किलों का सामना करता हो,
हींमत और साहस से काम करता हो ।
वो मर्द है ।
मर्द शक्तिशाली हो और
उस का सही उपयोग करता हो,
वो मर्द है ।
मर्द हार से न हार जाए,
जीत ने की कोशीश करता हो,
समस्याओं को हल करता हो ।
वो मर्द है ।
मर्द दर्द से न दुखी हो और न मायुस हो ।
मर्द मर्यादा न छोड़े और मर्दानगी निभाता हो ।
दूसरों पर अत्याचार न करात हो ।
वो मर्द है ।
मर्द कि निशानी चहरे पे तेज और मूछ हो
आवाज़ शेर जैसी,आखों में खुमार हो,
फिर भी आवारा नही फरिस्ता हो,
देखते ही पहेचान जाए, वो मर्द है ।

मर्द हो मर्द बनने की कोशीश करो
मुर्दा बनकर जीना भी क्या जीना है ?

विनोद आनंद                             29/04/2016
फ्रेन्ड, फिलोसोफर, गाईड

जिंदगी क्या है ?

जिंदगी जंग है,
जिंदगी को जीतना है ।
जिंदगी इम्तहाम है,
जिंदगी में पास होना है ।
जिंदगी द्वन्द है,
द्वंद से बचना है ।
जिंदगी रंगमंच है,
हर रोल खूबी से निभाना है ।
जिंदगी खेलका मैदान है,
हर गेम खेलदिली से खेलना है ।
जिंदगी पुरुषार्थ है,
यहाँ भाग्य का  निर्माण करना है ।
जिंदगी पाठशाला है, जिंदगी में
शीखते रहो और सवँरते रहो ।
जिंदगी ध्येय है,
हर ध्येय हाँसील करना है ।
जिंदगी बक्षिस है ईश्वर की,
जिंदगी को सफल,सार्थक
और धन्य बनाना है ।

विनोद आनंद                                 27/04/2016

Emotions

Emotions is feeling creating
and residing in heart.
It always appears on face.
through eyes and lips or tongue.

Emotions may be good
like love pity which are positive
or bad  like hate, excitement,
anger which are negative.
Emotion may be creative
or destructive, useful or useless.

Be awake when,
emotions are created.
Do not  create bad emotion.
To be emotional is good
but do not be sentimental.

To be too emotional is bad,
as people take disadvantage
and do emotional blackmailing.

Along with IQ-Intelligent Quotient
SQ-Spiritual Quotient,
AQ- Adverse  Quotient
EQ-Emotional Quotient is must.
for better and successful life.

Vinod Anand                        27/04/2016
friend, philosopher, guide