जिंदगी क्या है ?

जिंदगी जंग है,
जिंदगी को जीतना है ।
जिंदगी इम्तहाम है,
जिंदगी में पास होना है ।
जिंदगी द्वन्द है,
द्वंद से बचना है ।
जिंदगी रंगमंच है,
हर रोल खूबी से निभाना है ।
जिंदगी खेलका मैदान है,
हर गेम खेलदिली से खेलना है ।
जिंदगी पुरुषार्थ है,
यहाँ भाग्य का  निर्माण करना है ।
जिंदगी पाठशाला है, जिंदगी में
शीखते रहो और सवँरते रहो ।
जिंदगी ध्येय है,
हर ध्येय हाँसील करना है ।
जिंदगी बक्षिस है ईश्वर की,
जिंदगी को सफल,सार्थक
और धन्य बनाना है ।

विनोद आनंद                                 27/04/2016

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s