क्या शीखा है ? 

​टीवी सिरीयल या चित्रपट

से क्या शीखना है ?

कावा दावा या हिंसा 

प्रपंच या छल कपट 

दगा या फरेब या द्वेष 

बदला लेने का तरिका 

सेक्क्ष या फेशन वगैर ।

क्यूकि यही तो सब 

दिखाया जाता है उस में।

क्या सिरीयल या चित्रपट 

यही संदेश या शिख देना चाहते है ? 

जिसे संस्कार, माहोल, 

ईन्सान का स्वभाव और 

फितरत बदल रही है ।

सियरल या चित्रपट में

कुछ भी दिखाए वो तो 

व्यापार करते है 

नही संस्कार सिंचन ।

उस में से हमने क्या 

शिखना वो हमारी पसंद

और जिम्मेदारी है ।

जागो सावधान सिरीयल

या चित्रपट हमने 

सही शिख लेनी है ।

विनोद आनंद                                 12/07/2016  फ्रेन्ड, फिलोसोफर,गाईड

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s