जब संग हो,,,,, 

​जीवन तब सफल है, 

जब धर्म और ईश्वर संग हो ।

सौंदर्य तब किंमती है, 

जब शुद्ध चरित्र संग हो ।

कला तब सार्थक है, 

जब विनय संग हो ।

प्रेम तब सच्चा है, 

जब भरोशा संग हो ।

 संपत्ति तब उपयोगी, 

जब स्वास्थ अच्छा  हो ।

भक्ति तब सफल है, 

जब दिल में भावना संग हो ।

व्यापार तब सफल है, 

जब अच्छा व्यवहार संग हो ।

बुध्धिमता तब सही है, 

जब विवेक संग हो ।

प्रसिध्धि तब सफल है, 

जब निरअहंकारिता संग हो ।

शिक्षण तब सफल है, 

जब नैतिकता संग हो ।

रिश्ते तब पक्के होते है, 

जब रिश्ते में प्रेम संग हो ।
विनोद आनंद                             25/07/2016      फ्रेन्ड, फिलोसोफर, गाईड

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s