मानव जन्म हो सफल

​घर को सजाना ताज़ा फूलो से

तन को सजाना अच्छे कपडों से

मन को सजाना अच्छी सोच

और सकारात्मक विचारो से ।

खुद को सजाना है सद् गुणों से और 

दुर्गणों का कुडा कचरा साफ करके ।

जिंदगी को सजाना कुछ नियमों

से सिध्धांतो, कर्मो,सफलता से

और गलत आदतों को मिटाके ।

आत्मा का सजाना ईश्र्वर कि

प्रार्थना और उपासना से ।

यह सब सजाना आ जए तो, 

मानव जन्म हो जएगा सफल ।

विनोद आनंद                           28/08/2016       फ्रेन्ड, फिलोसोफर, गाईड

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s