ईन्सान एक फूल

​बगीयाँ मे कई रंग बेरंगी फूल

खुसबू फैला कर हर पल 

माहोल को सँवारते

और महेकाते रहते है ।

फूलों के हम ऋणि है ।

उन का शूक्रिया करना है । 

कुदरत का सबसे बडा,सर्व श्रेष्ठ,

खुबसूरत और खुसबूदार फूल 

दुनिया कि बगीयाँ में है ईन्सान ।

ईन्सान संसार के वृक्ष पे,

संस्कार कि डाली पे खिला फूल है ।

हमें कुदरत का शूक्रिया करना है ।

सद् गुणो,सद् विचार,सद् भाव कि 

रंग बेरंगी पंखडीयों से खिला फूल, 

दुनिया को सँवारता है और 

ईन्सानीयत,सद् आचरण कि 

खुशबू से महेकाता है माहोल । 

एसे फूल को कोई भी अपनी

जिंदगी की फूलदानी में सजाएगा

और उस कि सुंदरता और खुशबू से

खुदको सँवारेगा और महेकाएगा ।

विनोद आनंद                          14/01/2017         फ्रेन्ड, फिलोसोफर,गाईड 

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s