706 शेर शायरीयों का गुलदस्ता-25

👣राहगीर

जिंदगी राह है  

हम राहगीर और

चलना मंझिल कि ओर

पाने को सफलता ।

👹 मुश्केलयाँ

मुश्केलयाँ बडी नही इन्सान

कि हिमंत और होसले से 

मुश्केलयाँ ईम्तहान है, 

बनाती सकक्षम हमे 

उसे गभराना है नादानी 

करो सामना तो आसान

बन जाती है  मुश्केलीयाँ ।

🌹 मंझिल

दूर तक मंझिल नज़र आती नही

तो दीशा और लक्ष्य बदल दो, 

फिर दीखने लगेगी मंझिल नई ।

😀 जोडी

जोस है लेकिन न होस, 

तो गलतीयाँ और गरबड ।

जोस के साथ होस तो, 

होगा सब कुछ सही ।

जोस-होस कि जोडी, 

जैसे हसी-खुसी कि जोडी ।

जहँ भी हो सफलता है वहाँ ।

विनोद आनंद                         21/03/2017   फ्रेन्ड,फिलोसोफर,गाईड

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s