794 शेर शायरीयों का गुलदस्ता-29

👍याद रखना ।

लूटने चला था, 

लूटकर लोट आया ।

मजाक उडाने चला था, 

खुद मजाक बन गया  ।

शिकार करने गया था

शिकार बन गया ।

सरप्राइज़ देने गया था

सरप्राइज़ हो गया  ।

याद रखना इरादे सही है तो

कामीयाबी मिलती है वरना

नाकामीयाबी मिलती है ।

💗 मन कहाँ टिकता है ? 

चाहते है भूल जाना जिसे, 

वोही आते है याद ।

चाहते है याद करना जिसे, 

भूल क्यूँ नही जाते उसे ? 

जिस पर मन टीका 

वोही याद आएगा ।

नही चाहते उस पर 

मन को मत टिकाना ।

चाहत पे मन टकता है ।

✌ कामीयाबी 

होंसला बनाए रखना

उमीदे जगाए रखना

मंझिल पास आएगी ।

होस बनाए रखना

जोस जगए रखना

सफलता मिलेगी

हिंमत बनाए रखना

आशा जगाए रखना

कामीयाबी आप के

चरणों में  होगी ।                                                 विनोद आनंद                                 30/05/2017   फ्रेन्ड,फिलोसोफर,गाईड

793 जिंदगी कि बाज़ी जीतलो

क्या पकडाना है ? 

जो छोडना चाहे, 

उसे पकडो ।

क्या छोडोना है ? 

जो पकडना चाहे, 

उसे छोडो ।

जो खराब है,उसे छोडो ।

जो अच्छा है,उसे पकडो ।

अहंकार को छोडो, 

स्वमान को पकडो ।

जो सही है,उसे पकडो ।

जो  गलत है,उसे छोडो ।

प्रेम को पकडो,मोह को छोडो ।

मित्रताको पकडो,शत्रुताको छोडो ।

जो जूठ्ठ  है,उसे छोडो ।

जो सच है, उसे पकडो ।

संसार कि माया को छोडो, 

ईश्र्वर कि भक्ति को पकडो ।

लोभ-लालच को छोडो

संतोष-शांति को पकडो ।

द्वेष-ईर्षा को छोडो

दया-करूणा को पकडो ।

कुसंग को छोडो, 

सत्संग को पकडो ।

जिसे छोडना है उसे

छोडने कि हिंमत रखो

जिसे पकडना है उसे

पकडने कि जिद करो ।

अगर यह होने लगा तो

समजना कि जिंदगी कि

बाज़ी आपने जीत ली ।                                         

विनोद आनंद                                 30/05/2017   फ्रेन्ड,फिलोसोफर,गाईड

792 ધ્યાન રાખજો

તમારી મજા બીજાની

ન બને સજા,ધ્યાન રાખજો . 

તમારી વાણી મજા માટે  

ન બને ખંજર,ધ્યાન રાખજો . 

તમારો વ્યવહાર મજા બીજા માટે  

ન બને દુ:ખદાયી,ધ્યાન રાખજો . 

તમારી મસ્તી બીજાને, 

ન પડે મોંઘી, ધ્યાન રાખજો . 

તમારી પ્રવૃતિ  બીજાની  

ન બને તકલીફ,ધ્યાન રાખજો . 

તમારી વાતચીત બીજા માટે  

ન બને બકવાશ,ધ્યાન રાખજો .

તમારો ફાયદો બીજા માટે  

ન બને ગેરફાયદો ,ધ્યાન રાખજો .

તમારો ગુસ્સો બીજા માટે

ન બને તનાવ ને ચિંતા, ધ્યાન રાખજો

બીજાનું આટલું ધ્યાન રાખશો તો, 

બીજા પણ તમારું ધ્યાન રાખશે. 

જેવું તમે વાવશો તેવું લણશો

જેવું લણવું હોય તેવું વાવજો. 

વિનોદ આનંદ                        30/05/2017   ફ્રેન્ડ,ફિલોસોફર,ગાઈડ 

791 सफल पेरन्ट कौन ? 

सफल पेरन्ट कौन ? 

जिस के बच्चे उनका

मान सन्मान करे, 

वो सफल पेरन्ट ।

जिस के बच्चे घर के

निति नियम और मर्यादा 

का पालन करे, 

वो सफल पेरन्ट ।

जिसे बच्चे सूर्योदय

से पहले उठे, अपने

कार्य में नियमित हो, 

वो सफल पेरन्ट ।

जिस के बच्च अपना

काम खुद करते हो और

घर के कार्य में सहाय करे, 

वो सफल पेरन्ट ।

जिस के बच्चे अभ्यास में 

अव्वल आते हो और

दूसरी प्रवृति करते हो, 

वो सफल पेरन्ट ।

जिस के बच्चें अपने

पेरन्ट के साथ प्रेम से, 

नम्रता से व्यवहार करे, 

वो सफल पेरन्ट ।

जिस के बच्चें अपने

पेरन्ट की आज्ञा का 

पालन करे, 

वो सफल पेरन्ट ।

जिसके बच्चें अपने

पेरन्ट कि आर्थिक

परिस्थिति और उन की

भावनाओं को समजे, 

वो सफल पेरन्ट ।

उतना ही नही जो बच्चे 

एसा करे वो, एक आदर्श 

परिवार कहलाऐ ।

यही सपना हर  पेरन्ट का

होना 
विनोद आनंद                                 28/05/2017   फ्रेन्ड,फिलोसोफर,गाईड