777 जिंदगी सिर्फ जीना नहीं

जिंदगी सिर्फ जीना नहीं

जिंदगी के उद्देश्य को, 

जिंदगी के रहस्य को और

जिंदगी कि किंमत समजना है ।

जिंदगी सिर्फ जीना नहीं

जिंदगी को जीतना भी है

जिंदगी कि किंमत चुकानी है ।

कुछ अच्छा बनकर, 

कुछ अच्छा करके ।

जिंदगी युही नहीं जीना 

कुछ निश्चित ध्येय रखना, 

आयोजन युक्त, सफलता 

के लिए जीना है ।

जिंदगी सिर्फ खुद के लिए नही, 

जिंदगी जिसी बदोलत है

उसी के लिए भी जीना है ।

जिंदगी युही नहीं गवाँना है

जिंदगी आत्मकल्याण के

लिए भी जीना है वरना

जिंदगी दूबारा नही मिलेगी ।

अभी भी कुछ भी नही बीगडा

जब से जागे तब से सवेराँ ।

जिंदगी युही नहीं जीना है, 

जिंदगी सही तरीके से जीना है, 

जिंदगी को सवाँरना है,जिंदगी को

यादगार और अमर बनाना है ।

विनोद आनंद                               18/05/2017    फ्रेन्ड,फिलोसोफर,गाईड

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s