1127 होस हौसला और हिम्मत

होस हौसला और हिम्मत
का त्रिवेणी संगम और कडी
महेनत जीवन में सफलता
कि गेरंटी है,न कोई संदेह ।
होस हौसला और हिम्मत से
नामुमकिन को मुमकिन बना
शकते हो ।
जवानी का जोस होता है
मगर होस न हो तो बेहोशी
छा जाती है, हौसला और
हिम्मत सो जाती है तो
नाकामीयाबी रंग लाती है ।
होस से हौसला, हौसले से
हिम्मत, हिम्मत से साहस
साहस से उमीद जागती है तो
कोई भी काम कर शकते हो
और सफलता कदम चूमने
लगती है । होस हौसला और
हिम्मत जाहँ वहाँ निष्फलता कि
चिता जलती नज़र आती है ।
जिंदगी में सही तरीके से जीना है
तो तीनो का गठबंधन जरूरी है ।
विनोद आनंद 27/03/2018
फ्रेन्ड,फिलोसोफर,गाईड

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s