1188 कब तनाव जन्म लेता है ?

तनाव जिंदगी का हिस्सा है ।
तनाव का कारण है निवारण ।
निवारण के लिए जरूरी है जानना
कि तनाव कब जन्म लेता है ?
अनैतिक व्यवहार या व्यापार से
जिंदगी में तनाव जन्म लेता है ।
नैतिकता हि निवारण है
तनाव से बचने जिंदगी में ।
जिंदगी में स्त्री और पुरूष के बीच
सांसारिक मर्यादा के उल्लंघन से
जिंदगी में तनाव जन्म लेता है ।
सांसारि मर्यादा का पालन हि
निवारण है तनाव से बचने का ।
अशिस्त,आयोजनहीन जीवन से
जिंदगी में तनाव जन्म लेता है ।
शिस्त,आयोजनयुक्त जीवन हि
निवारण है तनाव से बचने का ।
तुम्हारा नकारात्मक वलण
और निराशाजनक वलण से
जिंदगी में तनाव जन्म लेता है ।
सकारात्मक, आशावादी वलण
हि निवारण है तनाव से बचने का ।
जिंदगी के मूळभूत सिध्धांतो का
अभाव, और मन का असंयम से
जिंदगी में तनाव जन्म लेता है ।
मन पर संयम और समतुल हि
निवारण है तनाव से बचने का ।
खानपान का अति और कसरत का
अभाव, बहार के खानेसे और तन
मन बिगडने से जिंदगी में
तनाव जन्म लेता है ।
योग्य खान पान, कसरत और
स्वस्थ तन मन हि, निवारण है
तनाव से बचने का ।
दिन का 24 घंटे का जिंदगी में
असमतुलन, अयोग्य वितरण से
जिंदगी में तनाव जन्म लेता है ।
समय का समतुल योग्य वितरण
हि निवारण है तनाव से बचने का ।
तनाव का जन्म हि न हो तो वो हि
सर्व श्रेष्ठ निवारण है तनाव का ।
तनाव पैदा करके निवारण ढूँढना
कहाँ कि बुध्धिमत्ता है ।
विनोद आनंद 26/05/2018
फेंन्ड, फिलोसोफर,गाईड

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s