1191 सही सोच सही काम

सही सोच सही काम,
सही काम कठीन काम ।
गलत सोच गलत काम
गलत काम सरल काम,
सही काम सरल नही है ।
गलत काम सरल होता है ।
जैसे एक पिता पुत्र को
गलती के लिए डांटे तो
पुत्र स्वीकार करे और
माफी मागे वो सही काम
और वो काम है जरा कठीन ।
अगर पुत्र गलती न स्वीकरे
और वो भी गुस्सा करे तो यह
सरल काम लेकिन गलत काम ।
जिंदगी में कुछ भी बोले या करे
सोचकर सही है वो बोलेे या करे
सरल और गलत है वो न करे ।
सही काम और सरल काम पर
सही सोच से करे तो जिंदगी में
सफलता मिलती हि रहेगी ।
विनोद आनंद 29/05/2018
फेंन्ड, फिलोसोफर,गाईड

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s